Fake Website Kaise Pahchane ?

आजकल इंटरनेट का विकास काफी तेजी से हो रहा है । इंटरनेट में रोज दिन-ब-दिन लाखों वेबसाइट बनाए जाते हैं । इसमें कई वेबसाइट हमें उपयोगी सेवाएं देने के लिए बनाई जाती है । लेकिन कुछ वेबसाइट Scam, Personal data चोरी करने के लिए बनाई जाती हैं ।

इंटरनेट एक ऐसी जगह है जहां फ्रॉड बिना चेहरा दिखाए आपको लूट सकता है । और हमने इस आर्टिकल को इसी टॉपिक में लिखा है कि Internet Me Fake Website Kaise Pahchane ?

Fake Website Kaise Pahchane ?

यहां मैंने फेक वेबसाइट पहचानने के कई सारे टिप्स दिए हैं । यदि आपको यदि इन टिप्स में से कोई भी एक टिप्स दिखाई देती है । तो वह वेबसाइट फेक हो सकती है ।

वेबसाइट की यूआरएल को जरूर देखें ।

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि स्कैम में आए मामलों में यह एक सबसे बड़ा कारण है । अधिकतर फ्रॉड बड़ी कंपनियों के नाम के सहारे लोगों को लूटते हैं ।

जिसमें वे यूआरएल में कुछ शब्द जोड़ देते हैं या किसी एक शब्द को हटा देते हैं इससे जो लोग यूआरएल को ध्यान नहीं देते । उन्हें वह वेबसाइट वैसे ही दिखती है । जैसा उसके सही वेबसाइट की होती है। तथा वह इससे शिकार हो जाते हैं । इन बातों से पता चलता है किसी भी वेबसाइट में जाने से पहले उसका यूआरएल जरूर चेक करें ।

वेबसाइट में Https या http चेक करे

Https आपके वेबसाइट का सुरक्षित कनेक्शन को दर्शाता है । आप यदि आप किसी न्यूज़ या ब्लॉगिंग साइट चलाते हैं तो आपने Https कनेक्शन के बारे में जरूर सुना होगा ।

यदि आप किसी भी ब्लॉगिंग या न्यूज़ वेबसाइट में जाते हैं । तब आपको Https न दिखने पर कोई भी टेंशन ना लें । क्योंकि वह वेबसाइट हमें किसी भी तरह की डाटा या पेमेंट नहीं देती है ।

लेकिन कभी-कभी आप शॉपिंग साइड या ऐसी साइड में जाते हैं जहां पर पर्सनल इंफॉर्मेशन , पेमेंट का विकल्प होता है । तब हमें वहां Https चेक करना चाहिए यदि आपको वहां Https नहीं मिलता है । तब वह वेबसाइट पूरी तरह ठीक है यह आप समझ सकते हैं ।

यदि आपको कोई वेबसाइट में Https देखने को नहीं मिलता है लेकिन वह वेबसाइट सुरक्षित लगती है तो जी हां आप एकदम सही हैं ।

आजकल कई वेबसाइट let encrypt ,free SSL, cloudflare जैसी कई वेबसाइट हमें Https ऑन करने के लिए सेवाएं देती है । इस तरह कोई भी अपनी वेबसाइट में Https ऑन कर सकता है ।

कहने से आशय हैं यदि किसी वेबसाइट में स्थिति Https नहीं है तो वह वेबसाइट फेक है । लेकिन यदि किसी वेबसाइट में Https है तो उस वेबसाइट की फेक होने की संभावना भी हो सकती है, क्योंकि Https सक्षम करने की सुविधा हमें इंटरनेट में फ्री में मिल जाती है ।

ऑनलाइन रिव्यू देखें

यदि आप किसी ऐसे वेबसाइट में चले जहां आप कोई प्रोडक्ट या सर्विस खरीद रहे हैं । आपको पर्सनल जानकारियां , पेमेंट करना पड़ेगा । आप वहां तुरंत रुके सबसे पहले उस वेबसाइट की को ऑनलाइन रिव्यू देखें ।

आप गूगल में जाकर उसकी वेबसाइट सर्च करें । यदि वह वेबसाइट गूगल ने नहीं मिलती तो वह वेबसाइट ने अपनी इंडेक्सिंग ऑफ करके रखते हैं जिससे उनका वेबसाइट गूगल के सर्च रिजल्ट में नहीं आता है ।

लेकिन यदि सर्च रिजल्ट में आता है तो उसके बारे में नीचे तक स्क्रॉल करके नीचे तक जाइए । ब्लाग पढ़िए , यूट्यूब वीडियो देखिए । आपको फिर सर्च रिजल्ट में मिल जाएगा की वेबसाइट फेक है या सही।

वेबसाइट की Privacy policy, About , term and conditions page देखे।

हर व्यवसायी अपने वेबसाइट में ग्राहकों के लिए Privacy policy, About , term and conditions page जैसे कई पेज बना के रखते है । जिससे वह कंपनी के बारे में , कंपनी के नियमो के बारे में लिखते हैं । इससे ग्राहकों उनके नियमों को पता चलता है ।

यह Pages वेबसाइट में footer या Header कहीं भी हो सकती है । लेकिन इस तरह के पेज नहीं मिलते हैं तो वह वेबसाइट जरूर हो सकती है । यदि वेबसाइट में केवल एक पेज मिले तो भी वह फेक है क्योंकि अक्सर व्यवसायी अपने वेबसाइट को इन सभी पेजों को बनाकर रखते हैं ।

Safe brousing के लिए क्रोम का उपयोग करें ?

आपने क्रोम ब्राउज़र का नाम सुना होगा । यह गूगल द्वारा दिया गया ब्राउज़ है । इसमें हमें काफी सिक्योरिटी मिलती है । यह कुछ गलत वेबसाइट खोलने पर आपको स्क्रीन में चेतावनी दे देता है । मैं भी आपको सुझाव दूगा कि आप भी Safe brousing के लिए क्रोम का उपयोग करें ।

उस वेबसाइट की डिटेल निकाले ?

यदि आप इंटरनेट में एडवांस यूजर हैं तो आप उस वेबसाइट की डिटेल जरूर निकालें । आप who.is पर डिटेल देख सकते हैं कि इस डोमेन को कब रजिस्टर्ड किया गया था । आपको who.is पर सारी डिटेल मिल जाएंगे । इससे आप यह पता लगा पाएंगे कि यह वेबसाइट फेक है या फिर सही ।

लालच में ना फंसे । ( Free, discount and offers )

यह कारण स्कैम में फंसने का दूसरा सबसे बड़ा बड़ा कारण है । आपने यह कथन सुना होगा ” लालच बुरी बला है ” । इसी बात का फायदा उठा कर अधिकतर स्कैम लोगों को छूट देते हैं free या Discount ऑफर का लालच देते हैं अपनी वेबसाइट की पूरी तरह किसी दूसरे व्यवसाय की तरह बनाते हैं ।

कभी-कभी आपको फेसबुक वेबसाइट को पूरी तरह सही दिखाई देती है । आप अंदाजा भी नहीं लगा पाएंगे कि यह वेबसाइट फेक है या फिर सही । इसलिए जिस तरफ दिया जा रहा है उस वेबसाइट में बिल्कुल न जाएं ।

अभी अभी 2020 में एक वेबसाइट लॉन्च हुई थी जिसमें मोबाइल फोन को कम कीमत में दिया जा रहा था । उस वेबसाइट को बाद में Tech Youtuber , तथा ब्लॉगर द्वारा फ्रॉड साबित किया गया ।

हमनें सीखा ( निष्कर्ष )

आपको यह पढ़कर सीखा होगा कि हम किस तरह फ्रॉड या scam वेबसाइट से बच सकते हैं । मैं आशा करता हूं कि आप हमेशा इसी तरह सर्तक रहे । फ्रॉड के शिकार होने से बचे ।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *